वर्ग पहेली क्रमांक 1 हिन्दी चिट्ठे व चिट्ठाकार

प्रस्तुत है आपके लिए चिट्ठाकार वर्ग पहेली

चिट्ठाकार और चिट्ठे.


1



2
























3





































4











5




















6
















7









8















































9









10






11




12










13







14
















15






16


17













18














19













20








21

















































































22







23















24




































25













सीधे
3.
बिस्मिल्लाहिर्रहमानुर्रहीम
5.
मानसिक नॉलेज
7.
अज्ञानी गुरू, दूसरे का लिखा कूड़ा समझे
8.
दिल में, पेट में, मन में जहां कहीं भी हो न हो, उगलना तो पड़ेगा
9.
छम्मकछल्लो
10.
आदि चिट्ठाकार और वर्तमान व्यंग्यकार में समानता
12.
डायरी वाला भारतीय
14.
कस्बे का रहवासी
19.
शब्दों के बीच सेतु बनाती हैं
20.
जहां का हर सेर सस्ता होता है
21.
नुकीली दृष्टि
23.
आज के जमाने में ठुमरी कौन गाता है
24.
हिन्दी का एक मात्र मालदार चिट्ठा
25.
कह न सकने के बावजूद

नीचे
1.
नेपाली हिन्दी चिट्ठाकार
2.
एक यात्री जो अक्षरों का जोड़ घटाना करता है
4.
लिखता तो है, कभी कभी, गाहे बगाहे
6.
चिट्ठाजगत् की माता
9.
इनके तो लब सचमुच आजाद हैं
11.
जरा मुस्कुरा दो ब्रदर
12.
कबाड़खाने का एक कबाड़िया
13.
फटा मुँह, कुछ दूसरे तरीके से
15.
राहुल उपाध्याय समेत हम सभी जिसमें लगे होते हैं
16.
कीचड़ में मरीचिका देखने दिखाने का साहस
17.
चार सौ बीस लेखक
18.
चिट्ठाकार का पूरा नाम जो फुरसत में लंबी पोस्टें लिखने के लिए प्रसिद्ध हैं, अलबत्ता पाठकों के पास फुरसत हो न हो
19.
हिन्दी ब्लॉग जगत् में पहली बार बकरी की लेंड़ी बिखेरी
22.
दूसरे के नाम की शाम
--------.

दिए गए संकेत से फटाफट उत्तर लिखिए और अपनी टिप्पणियों से उत्तर दीजिए. चूंकि टिप्पणियों में मॉडरेशन लगा है, अतः उन्हें कल इसी समय क्लीयर किया जाएगा ताकि आपके उत्तर दूसरों को पता न हो सके. उत्तर भी कल इसी समय यहीं लगाया जाएगा. ध्यान दें कि संयुक्ताक्षरों में आधा अक्षर के लिए भी एक खाना लागू है.


सभी सही उत्तरों के लिए 10 अंक - आप अपनी पीठ थपथपाएं, यानी आप सचमुच के चिट्ठा पाठक हैं.
एक से तीन गलत उत्तर - आपको चिट्ठा पाठक कहा जा सकता है.
चार से छः गलत उत्तर - आह, आपको थोड़ा ज्यादा पढ़ना होगा - जाहिर है, चिट्ठों को, और थोड़े ध्यान से.
सात या अधिक गलत उत्तर - जनाब, टिप्पणी करना छोड़िये, जरा चिट्ठे पढ़िए. ढेरों पढ़िए.

एक टिप्पणी भेजें

Res. Shri Ravi Ji,

Myself Vibhash Jha working as a Chief Editor in National Issue Group of Publications, Sir, I've seen your varg paheli and no doubt that you've done great effort. I must say that you've a nice collection of varg paheli on this blogspot, thus I want your permission to use this for our recently launched tabloid weekly. Kindly allow us to do so. We would be highly obliged for your kind co-operation.

Vibhash Jha
Cont. No. 098261-69369, 09300340836
Mail Id-vibhashjha18@gmail.com

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget