वर्ग पहेली - 142


वर्ग पहेली 142
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

12
3
45
6
7
8
9
10

कमेएव सुतगिरि रशिचनि शुंभनि रनीद ठनीलकं थोनीलाथा नीलाभ नीव कारिहानी ताकनु दाइंमानु माशइनु ड़ाभे दभे

बाएँ से दाएँ
1. बिंदी, बिन्दी, बिन्दु, विंदु, विन्दु, नुक्ता
2. राक्षस, असुर, दैत्य, दैत, निशाचर, दानव, जातुधान, यातुधान, तमीचर, तमाचारी, नैरृत, नैऋत, अनुशर, अपदेवता, ध्वांतचर, ध्वान्तचर, कर्बर, देवारि, कर्बुर, कैकस, तमचर, सुरद्विष, पलाद, पलादन, अमानुष, नृमर, रात्रिबल, रात्रिमट, निशाविहार, निषकपुत्र, रक्तप, पलंकष, ह्रस्वकर्ण, रेरिहान, रैनचर, त्रिदशारि, लंबकर्ण, लम्बकर्ण, नरांश, तरंत,
4. नीलापन, नीलिमा, नीले होने की अवस्था;
5. बादल, मेघ, उदधि, अंबर, अम्बर, अंबुधर, अम्बुधर, जलद
6. हिमालयज, मैनाक पर्वत;
8. मेष, मेढ़ा, अवि, अविक, गड्डर, पृथूदर, लोमश, ह्रद, वृष्णि, रोमश
9. चाष, चाषपक्षी, स्वर्णशिख, शकुंत, शकुन्त, पुण्यदर्शन
10. केवल, सिर्फ़, मात्र, खाली, ख़ाली, बस, निपट,

ऊपर से नीचे
1. प्रतिनिधि, मुख़्तार, मुख्तार;
2. एक असुर जो शुंभ का भाई था
3. प्रकार, तरह, किस्म, क़िस्म, भाँति, रहस्य
4. आकाश में दूर तक कुहरे की तरह फैला हुआ वह प्रकाश-पुंज जो अंधेरी रात में सफ़ेद धारी की तरह दिखाई देता है
5. तूतिया, नीलांजन, नीलाश्मज, मृतामद, वर्णकंट, वर्णकण्ट, शिखिकंठ
7. प्रदर्शन, वस्तु, शक्ति आदि दिखलाने की क्रिया
9. बुनियाद, आधार, बिना, मूल
--
पहेली 141 का हल:

लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget