ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

वर्ग पहेली 153

वर्ग पहेली 153
वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

12
3
4
567
89
10
11
121314
15
16

घाअई घाटअ रअघासु वअच अचिंनत चिंअता चूअताक चेनताअत योअधधि रथअधि वाचअधिन वाधिचीअ णउकपर काकउपर पचाउर पशउदं कनात कसीना नेरक पीकश

बाएँ से दाएँ
1. आचमन, आचवन, अचमन, अचवन, अचौन
2. तनाहीनता, चेतनाशून्यता, बेहोशी, मूर्च्छा, मूर्छा
4. औज़ार, करण, साधन, हथियार,
8. चिकित्सा, इलाज
9. वह रेती जिससे आरे आदि के दाँतों को रगड़कर तेज बनाया जाता है
10. कुंद, कुन्द, कनैल, रंगारि, रङ्गारि,
11. निश्चिन्तता, निश्चिंतई, बेफ़िक्री,
13. बिना घाट की जगह
16. चुनाव, निर्वाचन


ऊपर से नीचे
1. तृप्ति, संतुष्टि, संतोष, तुष्टि, तोष, पेट भर खाने की अवस्था या भाव;
2. सारथी, रथवाह, सूत, रथवान, प्राजिता
3. उपकारी, उपकर्ता
5. आतशक, गरमी, फिरंग रोग
6. एक प्रकार का मोटा कपड़ा जिससे कोई स्थान आदि घेरते हैं
7. अव्यर्थ, अबध, अमोघ, विमोघ; न चूकनेवाला
11. अविचारण, किसी वस्तु,बात आदि पर विचार न करने की अवस्था या क्रिया
12. कंस का सेनापति
13. बड़ा योद्धा
14. वह अर्थीय संबंध जो ऊपरी वर्ग या गण को निर्दिष्ट करता है
15. हनुमान, पवनपुत्र, पवनसुत, पवनकुमार, बजरंग बली
--
पहेली 152 का हल:

लेबल:

एक टिप्पणी भेजें




रवि रतलामी जी भाई साहब

आपको सपरिवार
नवरात्रि पर्व की बधाई और शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !

-राजेन्द्र स्वर्णकार

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget