ऑनलाइन वर्गपहेली Online Hindi Crossword Puzzle - 162


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 162
Online Hindi Crossword Puzzle
      1   2   3   4 5
  6          
          7  
8         9  
        10   11
12                
        13 14      
  15                
        16   17  
18         19  
          20    
21   22          


संकेत
दाएँ से बाएँ
2. वह कील या काँटा जिसके अगले नुकीले भाग पर कील की आधी लंबाई तक गड़ारियाँ बनी होती हैं, कुश्ती में विपक्षी को हराने या दबाने के लिए काम में लाई जानेवाली युक्ति
4. अंभोज, अम्भोज, कंबु, कम्बु, कंबुक, कम्बुक, अंबुज, अम्बुज, शंबुक, शम्बुक, शंबूक, शम्बूक, संबुक, सम्बुक, सूचिकामुख, पूत, चंद्रबंधु, चन्द्रबन्धु, सिंधुज, सिन्धुज, सिंधुपुष्प, सिन्धुपुष्प, दैवारिप, अर्णभव; एक प्रकार का बड़ा घोंघा जिसका कोष पवित्र माना जाता है और देवताओं के आगे बजाया जाता है
6. जो हरे पेड़-पौधों से भरा हुआ हो, बसा हुआ, बसा, अध्युष्ट, अबाद, अबादान; जहाँ पर वास हो या जहाँ कोई रहता हो, हरा भरा; आनंद और शोभा से युक्त
7. अनार का फूल
8. भाषांतरकार, अनुवाद कर्ता, उल्थाकार, अनुवादी, मुतरज्जिम; वह जो अनुवाद करता हो
10. विशेषकर चीन में पाई जानेवाली एक लता का रोएँदार फल, शुतुरमुर्ग की जाति का एक पक्षी
11. सद्योजात, नवप्रसूत, नव-प्रसूत; जिसने अभी या कुछ ही समय पहले जन्म लिया हो
12. गढ़ना, बनाना, आकार देना, रूप देना, सरजना, सिरजना, सृजन करना; काट-छाँटकर या और किसी प्रकार काम की चीज़ बनाना
13. मंतव्य, मन्तव्य, विचार; कोई काम करने के लिए मन में होनेवाला ख़याल
16. अफ़सर होने की अवस्था या भाव
18. भय,उद्वेग आदि से हृदय की गति तीव्र होने की क्रिया
19. राब, पकाकर गाढ़ा किया हुआ गन्ने का रस
20. मेहँदी, रंजक, रक्तगर्भा; एक झाड़ी जिसकी पत्तियों को पीसकर हथेली आदि पर लगाते हैं
21. छाज, सूपड़ा, शूर्प; अनाज फटकने का सींकों आदि का बना एक उपकरण
22. गरीबी, निर्धनता, दरिद्रता, दीनता, दैन्य, ग़रीबी, विपन्नता, दारिद्रय, कंगाली, कंगालपन, रंकता, तंगहाली, तंगदस्ती, क्षुद्रता, मुफ़लिसी, मुफलिसी, अनैश्वर्य, मिसकीनी, मिसकीनता, कालकर्णिका, बेकसी, अभाव, अभूति, विधनता, अवित्ति, दरिद्राण, अकिंचनता; गरीब या निर्धन होने की अवस्था या भाव

ऊपर से नीचे
1. अयोध्या के पास, उत्तर प्रदेश का एक शहर
3. बेहोश, मूर्च्छित, मूर्छित, अचेत, चेतनाशून्य, बेसुध, अचेतन, चेतनारहित, ज्ञानशून्य, संज्ञाशून्य, संज्ञाहीन, निश्चेष्ट, अचेष्ट, अचैतन्य, बेख़बर, बेखबर, अनचित, अनचित्ता, गाफिल, ग़ाफ़िल, अविचेतन, निसस, संज्ञारहित, संवेदनाशून्य, विचेतन; जिसे होश न हो;
5. सब्जी वाला, सब्जीवाला, सब्ज़ी वाला, सब्ज़ी विक्रेता, सब्जी विक्रेता; वह जो सब्ज़ी बेचता हो
8. अकुशल, अशुभकारी, अनभीष्ट, अहितकारी, अहितकर, अशुभ; जो कल्याण करनेवाला न हो
9. अलंकरणीय, अभ्यंजनीय, अभ्यञ्जनीय, आराइशी; सजावट के काम आनेवाला
14. द्वाविंशति, २२, 22, XXI, कारण, वजह, सबब, जड़, हेतु, निमित्त, मूल, बहाना, कारक, अर्थ, युक्ति, इल्लत, भव; वह जिसके प्रभाव से या फलस्वरूप कोई काम हो
15. मक्कारी, चार सौ बीसी, कूटता, फर्जीवाड़ा, ठगी, छलावा, चालबाज़ी, चालबाजी, जालसाजी, प्रपंच, परपंच, प्रपञ्च, बकमौन, बकमौनता, दुराव, परपञ्च, चालाकी, कपट, छल-कपट, फ्रॉड, फ्राड, कारिस्तानी, कारस्तानी, धूर्तता, शठता, वंचकता, फरेब, फेर-बदल, फेर-फार, फेरफार, झाँई-झप्पा, छल-छंद, धंधला, वंचना, प्रतारणा, अनभोरी, अनुपधा, अभिसंधान, अभिसन्धान, झाँई, उपधा, व्याज, कैतव, कुमैड़, पटेबाज़ी, पटेबाजी, काट, झपकी, योग, जोग; वह काम जो किसी को धोखे में डाल कर कोई स्वार्थ साधने के लिए किया जाए
16. एक रागिनी, एक प्रकार का सूती या रेशमी कपड़ा
17. सुरक्षित, महफूज़; जो ऐसी स्थिति में हो कि उसकी कोई हानि न हो सके

--

पहेली का हल अगली पोस्ट पर देखने के लिए नीचे दिए गए Newer Posts लिंक पर क्लिक करें

लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget