ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

352 - कुटिलता और छल के लिए की गई गुप्त मंत्रणा?


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 352
Online Hindi Crossword Puzzle
  1 2   3
               
  4     5 6 7  
8      
9           10
    11      
12 13   14
        15  
      16    
17     18  



बाएँ से दाएँ
1. 1. वह मज़दूर जिसे कोई अधिकार प्राप्त न हो और दिन-रात अपने मालिक की सेवा करनी पड़ती हो 2. आतंक
5. 1. कुटिलता और छल के लिए की गई गुप्त मंत्रणा; कुमंत्रणा; षड्यंत्र; कुचक्र; छल 2. दुष्ट अभिप्राय से दल बनाकर की गई मिलीभगत।
8. 1. विचार किए बिना किसी के पीछे लगे रहने की प्रवृत्ति; विचारहीनता; अनुकरण; भेड़चाल।
9. 1. आधिकारिक कथन; (चैलेंज) 2. न्यायालय आदि में स्वत्व; अधिकार अथवा हक के लिए किया गया प्रतिवेदन; (क्लेम) 3. अभिमान या आत्मविश्वास से कही गई बात।
12. 1. राज नर्तकी 2. वेश्या; रूपाजीवा।
14. 1. उच्चारण या वाचन न करने वाला 2. न बताने वाला; न कहने वाला 3. अस्पष्ट।
15. 1. चरण सहित 2. पूर्ण के साथ चतुर्थांशयुक्त; सवाया।
16. 1. ऐसी चादर जो दोहरी सिली हुई हो 2. मोटी चादर या दो पाटों वाली चादर 3. तह।
17. 1. उपहास; हास्योक्ति; व्यंग्यपूर्ण हँसी 2. हँसी; मज़ा; दिल्लगी 3. ईर्ष्या; डाह।
18. ब्राह्मण या पुरोहित द्वारा अपने यजमान से नियमित रूप से लिया जाने वाला भोजन।

ऊपर से नीचे
2. 1. आदमी; मनुष्य; मानव 2. जनता; जनसाधारण 3. आँख की पुतली।
3. 1. छोटा चौरा 2. एक पेड़ जिसकी छाल से रंग बनाया जाता है 3. एक ऐसा पेड़ जो हिमालय के आस-पास होता है और जिसकी छाल दवा के काम में आती है।
4. 1. बधाई; शुभकामना 2. बेटे या बेटी के जन्म के अवसर पर भेजा जाने वाला उपहार 3. बधावा या उपहार ले जाने वाले लोग 4. विवाह
6. घुँघरू आदि की मंद-मंद ध्वनि।
7. माने हुए विधान
8. 1. अंदाज़ या अनुमान से 2. करीब-करीब; प्रायः
10. बिना किसी रुकावट या प्रतिबंध के; निर्बाध रूप से।
11. 1. कपटपूर्ण चाल; तरकीब 2. घात; पैंतरा 3. किसी खेल में अपना प्रदर्शन करने की बारी या अवसर 4. जुए में हार-जीत के लिए धन लगाने की क्रिया या बारी 5. कुश्ती का पेंच 6. चौसर या जुए में पाँसे के पड़ने की स्थिति या रूप जिससे किसी खिलाड़ी की हार या जीत होती है।
13. 1. बचा-खुचा 2. थोड़ा-सा 3. बाकी बचा हुआ।
14. 1. जिसका पार न हो; अनंत; असीम 2. अथाह; बहुत अधिक; असंख्य; अतिशय।
15. 1. जो किसी के साथ उत्पन्न हुआ हो; जन्मजात 2. सरल; सुगम; स्वाभाविक 3. सामान्य; साधारण।
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget