387 - शुभ कार्य के प्रारंभ में ईश्वर से की गई स्तुति या प्रार्थना।


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 387
Online Hindi Crossword Puzzle
  1   2     3 4
5       6 7  
          8  
9      
        10  
  11     12
            13
  14  
           
      15     16



बाएँ से दाएँ
1. किसी खाद्य पदार्थ का कटा हुआ तिकोन या चौकोर टुकड़ा
3. 1. रंग
6. चारपाई के पैताने की ओर बुनावट को कसने के लिए लगाई जाने वाली रस्सी।
9. 1. मालगुज़ारी देने वाला या अदा करने वाला व्यक्ति 2. ज़मींदार।
10. 1. रस का अभाव; रसहीनता 2. रुखाई; शुष्कता 3. दुख; निरानंद 4. मनोमालिन्य 5. रसविहीन काव्य।
11. सभागृह; सभागार।
13. 1. शरीर का आकार 2. काठी।
14. शुभ कार्य के प्रारंभ में ईश्वर से की गई स्तुति या प्रार्थना।
15. 1. नाव को आगे की तरफ़ चलाने के लिए डाँड़ या पतवार द्वारा जल को पीछे की ओर ढ़केलना या पतवार चलाना। 2. कष्ट में समय बिताना; अभावों में दिन गुज़ारना।
16. भेड़

ऊपर से नीचे
2. 1. भार; तौल 2. किसी पदार्थ या वस्तु की नाप
4. 1. पहुँचाया या लाया हुआ 2. ग्रहण किया हुआ; गृहीत 3. मिला या पाया हुआ; प्राप्त 4. बिताया हुआ 5. स्थापित।
5. परमाणु के नाभिक का विखंडन; (ऐटॉमिक फ़्यूज़न)।
6. बोझ के कारण पीछे की ओर होने वाला झुकाव।
7. जिसके चार मुख हों; चार मुखोंवाला।
8. एक विशेष प्रकार से तैयार किया हुआ मीठे दूध का फेन जो जाड़े में खाया जाता है; नमश; निमस।
10. 1. सिकोड़ना 2. मोड़ना 3. समेटना; बटोरना।
12. एक प्रकार की लता जिसके बीजों से तेल निकलता है।
14. 1. मंथन करने वाला; मथने वाला; बिलोने वाला 2. कष्ट या दुख देने वाला; पीड़क।
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget