415 - जिसकी मति या बुद्धि भ्रष्ट हो गई हो


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 415
Online Hindi Crossword Puzzle
1   2     3 4
    5 6  
          7  
  8   9  
10              
  11    
          12   13
        14
15      
          16  



बाएँ से दाएँ
1. जिसकी मति या बुद्धि भ्रष्ट हो गई हो; कुबुद्धि; दुर्बुद्धि।
3. 1. झाड़ने की क्रिया या भाव 2. झाड़ने की मज़दूरी 3. झड़ने की क्रिया या भाव।
5. क्रोध पूर्वक डाँट कर कही जाने वाली बात।
8. 1. नीचे का लोक 2. पाताल लोक।
9. 1. प्रकाशमान; प्रकाशित 2. चमकदार; चमकीला।
11. 1. मासूम होने की अवस्था या भाव; भोलापन 2. निरीहता 3. सिधाई।
14. 1. बादल के समान श्याम वर्ण 2. कृष्ण; घनश्याम।
15. 1. वह जो बैठक करने में रुचि लेता हो 2. नियमित रूप से बहुत देर तक कहीं बैठकर बातचीत
16. कमल की जड़ या नाल; भसींड़; मुरार; मृणाल।

ऊपर से नीचे
1. 1. किसी को कुढ़ने में प्रवृत्त करना 2. किसी को दुखी करना 3. चिढ़ाना; खिझाना।
2. 1. शिष्य; विद्यार्थी 2. पाटलिपुत्र।
3. 1. बहुत तेज़ी से; तत्काल; फुरती से; झटपट 2. उसी समय; तुरंत; शीघ्र; चटपट।
4. 1. तारीफ़; प्रशंसा 2. स्तुति।
6. 1. जिसकी परिभाषा दी गई हो; (डिफ़ाइंड) 2. जिसका स्वरुप या लक्षण स्पष्ट किया गया हो।
7. नूतन होने की अवस्था या भाव; नयापन; नवीनता।
10. 1. निचोड़ना 2. पानी के साथ घिसकर
11. 1. मनुष्य से संबंधित 2. मनुष्य का।
12. 1. अत्याचार
13. गोरखपंथी साधु जिनके कान बिल्लौर के बाले पहनने के लिए फाड़े जाते हैं।

टिप्पणियाँ

और पहेलियाँ

अधिक दिखाएं

Contact us

नाम

ईमेल *

संदेश *