822 - बहुत ज़्यादा शीतल या ठंडा किया हुआ / हल 821

वर्गपहेली varga paheli - 822
ऑनलाइन हिन्दी उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) हिंदी शब्द - वर्ग पहेली Online Hindi Crossword / scrambled / jumbled word Puzzle संकेत के रूप में वर्ग पहेली के ठीक नीचे शब्द (उलटपुलट कर) दिए गए हैं
  1   2 3
4      
        5
6  
         
  7      
  8  

योढ़रूग हारीपरि नपरूही तिकुग शीतलित तचब बढ़गीईरी कुंठ ज़ीठकबाबै

बाएँ से दाएँ
2. रूप से हीन; कुरूप; जिसका कोई रूप रंग न हो।
4. दुर्गति; दुर्दशा; बुरी गति।
6. बढ़ई का काम।
8. 1. दलबाज़ी 2. लोगों को बुलाकर समय-समय पर बैठक करते रहना 3. बातचीत द्वारा किसी को अपने पक्ष में करने की कला।

ऊपर से नीचे
1. (व्याकरण) वह यौगिक शब्द जो किसी विशेष अर्थ में रूढ़ हो गया हो।
3. 1. परिहार करने वाला; त्यागने वाला; तजने वाला 2. निवारण करने वाला।
5. 1. बहुत ज़्यादा शीतल या ठंडा किया हुआ; हिमीकृत 2. बरफ़ में रखकर ख़राब होने से बचाया हुआ; परिरक्षित (खाद्य)।
6. 1. जो शेष रहे; बचने का भाव; बचा हुआ अंश 2. लाभ।
7. 1. जो तेज या तीक्ष्ण न हो; भोथरा 2. सुस्त 3. कमज़ोर 4. मंदबुद्धि 5. कुंठित।

---

हल 821

821

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget