476 - एक प्रकार की बेल जिसके लंबे फलों की तरकारी बनाई जाती है

ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 476
ऑनलाइन उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) शब्द पहेली Online Hindi Crossword / scrambled / jumbled word Puzzle
1         2  
    3       4
5         6  
7     8      
    9   10 11
               
  12   13   14 15  
  16         17
      18  
    19        

हैगया खाचौमु गरुड़ कोटँरी नटाँग रीवैख ड़सीडें जटब वडखां वअपलो ड़भागीब टकुमु पवैढ़या नीज रागजाँ नविटघ ड़बड़ब तचेन रीतो टाराख

बाएँ से दाएँ
1. 1. प्रकृति 2. जन्म देने वाली माता 3. दासी; अनुचरी 4. बेटी 5. स्त्री।
2. 1. आत्मा 2. जीव 3. मनुष्य; आदमी।
3. भाग्यशाली; ख़ुशनसीब।
6. 1. एक प्रकार की बेल जिसके लंबे फलों की तरकारी बनाई जाती है; तुरई; तोरई 2. काली सरसों।
7. 1. देवताओं
9. 1. (महाभारत) एक वन जो वर्तमान में दिल्ली के आसपास का क्षेत्र है जिसे अर्जुन ने जलाकर रहने लायक बनाया था 2. खाँड़ से बनी खाने की चीज़ 3. मिठाई 4. मिसरी।
10. टट्टू; छोटे कद का घोड़ा।
14. 1. पढ़नेवाला 2. पढ़ानेवाला।
16. 1. गिद्ध की जाति का एक प्रकार का बहुत बड़ा पक्षी 2. उकाब 3. सफ़ेद रंग का एक प्रकार का जल पक्षी जिसे पड़वा ढेक भी कहते हैं 3. (पुराण) विनता के गर्भ से उत्पन्न कश्यप के पुत्र पक्षीराज गरुड़ जो विष्णु के वाहन माने जाते हैं 4. (पुराण) चौदहवाँ कल्प।
18. सोना-चाँदी आदि तौलने का छोटा तराज़ू; छोटी तुला।
19. टिंडा; तिंदिश; एक प्रकार की तरकारी।

ऊपर से नीचे
3. 1. आय-व्यय का लेखा 2. आय-व्यय पत्रक 3. मासिक या वार्षिक आय-व्यय का लेखा-जोखा।
4. 1. विघटित होना या करना 2. अलग करना 3. तोड़ना 4. छिन्न-भिन्न हो जाना 5. नाश; बरबादी।
5. 1. जिसके चारों ओर चार मुख हों 2. जो सब ओर उन्मुक्त या प्रवृत्त हो। [मु.] -दीया जलाना : अपने को दिवालिया घोषित करना।
8. 1. काटकर हटाना; नष्ट करना 2. आक्रमण करना 3. दाँत से काटना।
11. 1. पकड़ने या गहने वाला 2. अंगीकार करने वाला; स्वीकार या ग्रहण करने वाला।
12. राजाओं की स्तुति करने वाला; बंदी; भाट; चारण।
13. 1. बड़बड़ाना या बड़बड़ का शब्द करने की क्रिया 2. शेखी; डींग 3. मुँह से निकलने वाले अस्पष्ट शब्द 4. व्यर्थ की बातचीत; बक-बक; प्रलाप; बकवाद 5. क्रोध की स्थिति में धीमे स्वर में बोले गए शब्द।
15. 1. वाणी का एक प्रकार 2. वाक्-शक्ति 3. कंठ से उच्चरित होने वाला स्वर 4. वाग्देवी; सरस्वती।
17. 1. जर्जर हालत में पहुँचा हुआ या रुक-रुककर काम करने वाला कोई वाहन या मशीन 2. टूटी-फूटी हालत में पड़ी हुई गाड़ी।
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget