रविवार, 22 मई 2011

वर्ग पहेली क्रमांक 132

वर्ग पहेली 132
नया! पहेली 132 एनीमेटेड फ्लैश गेम के रूप में बढ़िया अनुभव के साथ यहाँ खेलें
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

12
3
45
67
8

बिचला रीबिहा रबुदवापलंज़ बेरकरा बेतार अबेदब आँचबे लाऔदबे ताकरबे करदबे दीयामि नलसारमि मिनरीश

बाएँ से दाएँ
1. असभ्य, अशिष्ट, गँवार, संस्कारहीन, असंस्कृत, बेहूदा, शिष्टाचारहीन, शीलहीन
2. बिहार राज्य का निवासी
3. अवरोधहीन, अकंटक, अनवरुद्ध, अबाधित, अरोधित, निर्बाध, अबाध, बाधाहीन, निर्विघ्न, निष्कंटक
4. आतुर, अधीर, कातर, व्याकुल, बेकल, बेचैन, बेताब, विकल
5. सावधि, अवधियुक्त
6. जिसमें तार न हो या बिना तार का
7. ईसाई धर्म का प्रचार करने वाली संस्था
8. महत्वाकांक्षी, उच्चाकांक्षी

ऊपर से नीचे
1. संतानहीन, संतानरहित, अऊत, अनपत्य
2. मध्यवर्ती, मध्यस्थित, मध्य, मध्यम
3. जिसकी कद्र न की गई हो
4. क्रमहीन, अक्रमिक, अनियोजित, विशृंखलित
5. मेली; जो सबसे अच्छी तरह मिलता-जुलता हो
---
पहेली 131 का हल-

वर्ग पहेली क्रमांक 131

वर्ग पहेली 131
नया! ऑनलाइन वर्गपहेली 131 यहाँ पर इंटरेक्टिव, एनीमेटेड फ्लैशगेम के रूप में खेलें.
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

123
4
56
7
89
10
1112

लाबाव सीबा लानेवाबिक बिराख बिदेसी याबिबान बिलार रबिही बीजदार ताबी रबीमा सबी कीदारदबुँ बुआ ज़लदिबु याढ़िबु निबुयादी बुरा

बाएँ से दाएँ
1. मूलभूत, मूलगत, मौलिक
2. बेहतर, बढ़कर, उत्तमतर; जो अधिक अच्छा हो, दस और दस
4. जिसमें बुँदकियाँ बनी या लगी हों
5. परदेसी, पारदेशिक
6. कोई-कोई, इक्का-दुक्का
7. वृद्धा, वृद्ध स्त्री, बुजुर्गिन
8. छितराया, फैला, विकीर्ण, प्रकीर्ण
9. पागल व्यक्ति, पागल, मूर्ख, बेवकूफ़, मूढ़, बुद्धू
10. मरीज़; वह जिसे कोई रोग हुआ हो
11. देर का पका हुआ या एक रात पहले का पका हुआ
12. फुआ, फूफी, बोया हुआ, बोया

ऊपर से नीचे
1. कायर पुरुष, कापुरुष, गीदड़, नामर्द
2. बिजैला, जिसमें बीज हो
3. बिकाऊ, विक्रेय
6. निर्जन स्थान, एकांत, निर्जन, वीरान जगह
7. दुराशय, ओछा, कुविचारी
8. वियोगी
10. अतीत, गत, भूत, व्यतीत
--
पहेली 130 का हल -

वर्ग पहेली क्रमांक 130

वर्ग पहेली 130
नया! अब आप ऑनलाइन हिंदी वर्ग पहेली  को फ्लैश गेम के रूप में इंटरेक्टिव तरीके से हिंट इत्यादि समेत ज्यादा बेहतर रूप में यहाँ भर सकते हैं.
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

1
2
34
5
6
7
89
10
11

गैलानमकूर रंगीत कीपात हितपारद हितरपपा पायरदा परिरंपाक भासीपार तपारि कपाल तूलपा पारदाल रलपाहान पाव वनपा

बाएँ से दाएँ
1. अचल, स्थावर
3. टिकाऊ, पायेदार
5. जिसमें पाल हो
6. परम्परागत, परंपरागत,
7. नीच, पापाचारी, पाष्मा, पापकर्मी
8. जिससे होकर प्रकाश जा सके
9. पौवा; किसी वस्तु आदि का चौथाई भाग या अंश, पाव रोटी, डबलरोटी; एक प्रकार का ब्रेड
10. पोषक, संपोषक
11. लहरित, तरंगायित, तरंगिणी

ऊपर से नीचे
2. पापहीन, निष्पाप
4. पालनकर्ता, पालनहार, पोषक, संपोषक
5. जिसका पारण हो चुका हो
6. अपाद, बिना पैर का
7. पुण्य, पुनीत, शुद्ध, पाक
9. घरेलू; जिसको पाला या पोसा जाता हो
--

पहेली 129 का हल-

वर्ग पहेली क्रमांक 129

वर्ग पहेली 129
नया! - बेहतर जानदार अनुभव के लिए ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली इंटरनेट में पहली बार फ्लैश  गेम के रूप में इंटरेक्टिव यहाँ खेलें.
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

123
45
6
7
89
10
11

खोरगोता नवहीगौर रजदातमी बूतरजिया यातिताँ नताहीत पशतानाक पारीचाद पानस नापाशकप पायमप पीपा बंपाद

बाएँ से दाएँ
2. पतित, पातकी, नीच, पापाचारी
3. आबद्ध, निबद्ध, बद्ध, बँधा, नौकर, सेवक, दास, अनुचर, ख़ादिम
6. सभ्य, भद्र, शील, शिष्ट, शालीन
7. प्राचीनकाल में कटहल से बनाई जानेवाली एक प्रकार की शराब
9. कतार, अवली, श्रेणी, शृंखला, पंगती
10. तापहर, ज्वर को दूर करनेवाला;
11. पैदल; पैरों से चलकर कहीं जानेवाला

ऊपर से नीचे
1. गरिमाहीन; जिसमें गौरव न हो
2. अधर्म, अकर्म, अघ, पातक, कलुष, अधर्मपना, अपराध
4. पिताहीन, पितविहीन
5. तरबूज के छिलके के रंग का
7. अघनाशक, अघारि
8. पानी में डुबकी लगाकर चीजें ढूँढनेवाला व्यक्ति
---
वर्ग पहेली 128 का हल-

वर्ग पहेली क्रमांक 128

वर्ग पहेली 128
नया! ऑनलाइन वर्गपहेली 128 यहाँ फ्लैश गेम के रूप में इंटरेक्टिव तरीके से खेलें!
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

12
3
4
56
7
89
10

मिररगैसानल गैरिक पात तजपो लतबदी तहबा लमित यत तर ररबतत फरतदार नास लरत रीधातवालर लहात

बाएँ से दाएँ
2. जो तपस्या से उत्पन्न हुआ हो
3. गेरुआ, जोगिया; गेरु के रंग का
5. तमिलनाडू का निवासी, भाषा अथवा लिपि
6. परिवर्तन, तबदीली, बदलाव
7. द्रव
8. लथपथ, लथ-पथ, सना हुआ
10. लथपथ

ऊपर से नीचे
1. नष्ट, चौपट, तहस नहस, ध्वस्त, नेस्तनाबूद
3. अमिलनसार, अमेली; जो मिलनसार न हो;
4. असिधारी, असिपाणि, करवाली; वह जो तलवार धारण किए हो
5. गीला, भीगा, तर, नम, ओदा, आर्द्र
6. समर्थक, पक्षधर, अनुमोदक, बाँहियाँ
7. ताल में होनेवाला
8. अवश्यंभावी, अटल, नियोजित, ठहराया, ठहराया हुआ, मुकर्रर
9. साधना, सतत प्रयत्न, अध्यवसाय, गरम करना, तप्त करना;
--

पहेली 127 का हल-

वर्ग पहेली क्रमांक 127

वर्ग पहेली 127
नया ! - ऑनलाइन पहेली 127 अब फ्लैश गेम के रूप में यहाँ इंटरेक्टिव तरीके से खेलें!
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

123
4
5
6
7
8
9

नीकीकगैतर गैतदरमं रसररीगैका रजिहागैर गैसीय चगोर यातिगो नीपगोय हाबगोर रागो टितघ टिघया चतुर मचरत

बाएँ से दाएँ
2. गोबर मिला हुआ
4. निकृष्ट, नीच, ओछा, छिछोरा, तुच्छ, निम्न स्तर का
5. गैस संबंधी या गैस का
6. स्वाभिमानी, आत्माभिमानी, ख़ुद्दार
7. राक्षस, असुर, दैत्य, दैत, निशाचर, निशिचर, दानव,
8. फिरंगी, भूरा, श्वेत
9. अशासकीय

ऊपर से नीचे
1. चालाक, होशियार, पटु, सयाना
2. अप्रकट्य, गोप्य, अपहरणीय, अपीच्य, अप्रकाश्य
3. गोत्रज, सगोत्री, सगोत्रीय
4. गुज़रा; जो घट चुका हो
5. अतकनीकी, तकनीकहीन, प्राविधिहीन
6. अनुपस्थित, अविद्यमान, अप्रस्तुत, अप्राप्त
8. चारागाह, चरनी, चरी, चराई, खरक, बुगिअल
---

पहेली 126 का हल-

सोमवार, 2 मई 2011

वर्ग पहेली क्रमांक 126

वर्ग पहेली 126
बेहतर अनुभव के लिए इसे एनीमेटेड फ्लैश गेम के रूप में यहाँ (लिंक पर क्लिक करें) खेलें
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

12
34
5
6
78
9
10

अजकबाड़ कारलाक लापक खरचा दारख नादिरखनी खपरत रखब रखमास दराख रटागि गिटड़ागिड़ह ड़घुड़दौ सघुवारड़

बाएँ से दाएँ
1. गिड़गिड़ाने की अवस्था या भाव
3. एक वनस्पति संबंधी रोग
4. घोड़ों की वह दौड़ जिसके लिए हार-जीत की बाज़ी लगती है
6. धार्मिक दृष्टि से पौष और चैत्र मास
8. रेणुका, अभीष्टा, रेनुका
9. फनकार, फ़नकार, कला कर्मी
10. कुंद, लेथ, लेथ मशीन, ख़राद मशीन,

ऊपर से नीचे
1. एक वाद्ययंत्र जिसमें विशेषकर छह तार लगे होते हैं
2. अभिमानी, गर्वीला, अहंकारी, घमंडी, दर्पी, दंभी, दांभिक
3. घास-पात, घासफूस, घास-फूस
4. अश्वारोही, अश्ववाह, अश्ववार, हयारोही, हयी, घुड़चढ़ा
5. इस्तमाल, उपभोग, उपयोग, प्रयोग
7. शिखंड, मोरपुच्छ, पैंच; मोर की पूँछ
8. सौ अरब की संख्या
---
पहेली क्रमांक 125 का हल:

वर्ग पहेली क्रमांक 125

वर्ग पहेली 125
बेहतर अनुभव के लिए इस पहेली को आप फ्लैश गेम के रूप में एनीमेटेड तरीके से यहाँ (लिंक पर क्लिक करें) खेल सकते हैं.
ऑनलाइन हिंदी वर्गपहेली http://vargapaheli.blogspot.com

123
456
7
8
910
11
12

ड़कअ नड़अक धककअ बककअ कअरब चाटकचहअ चकनअ लाकई लाधरक लरख नखरसा धगि घुलनाड़ बलघुड़ह नघु कचंरीच चंचताल

बाएँ से दाएँ
1. हयनाल; घोड़े पर रखकर चलाई जानेवाली एक प्रकार की तोप
2. भौंरा, भँवरा, भ्रमर, अलिंद, अलिन्द, अली, भृंग, मधुकर
5. खल, खल्ल, खल्लड़
6. गीध, दीर्घदर्शी, वज्रचंचु
7. एक प्रसिद्ध मुगल शासक
9. ऐंठन
10. दुराग्रह, हठ, अनुचित जिद, ढिठाई
11. भौचकपन, अचक
12. करमूल, पाणि मूल, मणिबंध, पहुँचा

ऊपर से नीचे
1. घुण, ढुवारा, छेदा; अन्न,लकड़ी आदि में लगनेवाला एक प्रकार का छोटा कीड़ा
2. शरारत, नटखटपन, शैतानी, बदमाशी, मस्ती
3. चंद्रमा, चाँद, चंद्र, चंदा, चांद, शशि, सुधाकर,
4. हिचक, झिझक, संकोच, हिचकिचाहट
5. हथियार तेज करने का एक प्रकार का सान का पत्थर
8. बंबूकाट, रहड़ी; एक प्रकार की घोड़ा गाड़ी
9. बकबक, अनाप-शनाप, बकवास, बकवाद, अंड-बंड
10. कंचुक; अंगे की तरह का एक लंबा पहनावा
---


वर्गपहेली varga paheli - 928

वर्गपहेली varga paheli - 928 ऑनलाइन हिन्दी उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) हिंदी शब्द - वर्ग पहेली Online Hindi Crossword / scrambled /...

पहेलियाँ ही पहेलियाँ

रचनाकार : हिंदी साहित्य का आनंद लें

पढ़ें हिंदी साहित्य की अग्रणी ऑनलाइन पत्रिका - रचनाकार. अब एंड्रायड ऐप पर भी.

रचनाकार

टेक्नॉलाज़ी और हास्य-व्यंग्य

तकनीक और हास्य व्यंग्य का संगम - पढ़ें छींटे और बौछारें. अब एंड्रायड ऐप पर भी.

छींटे और बौछारें अब वेबसाइट के साथ साथ एंड्रायड ऐप पर भी.
अपने फ़ोन पर पढ़ने का बेहतर आनंद छींटे और बौछारें ऐप्प से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प
image
इंस्टाल करें.

सृजन व प्रस्तुति: रवि रतलामी

मेरी फ़ोटो
टैक्नोक्रेट, सॉफ़्टवेयर स्थानीयकरण विशेषज्ञ, संपादक, लेखक। > हिंदी कंप्यूटिंग को लोकप्रिय बनाने में जीवटता से संलग्न, 20+ वर्ष का प्रशासकीय/प्रबंधन/तकनीकी अनुभव, हिंदी में तकनीकी/साहित्य लेखन व संपादन तथा कंप्यूटरों, आईटी के हिंदी व छत्तीसगढ़ी भाषा में स्थानीयकरण / शिक्षण- प्रशिक्षण में सक्रिय भूमिका. हिंदी लिनक्स आपरेटिंग सिस्टम के प्रारंभिक रिलीज में महत्वपूर्ण भूमिका. 1000+ कंप्यूटिंग अनुप्रयोगों का हिंदी में स्थानीयकरण. अधिकतर कार्य मुक्त स्रोत के तहत, निःशुल्क, मानसेवी आधार पर. छत्तीसगढ़ी लिनक्स तथा छत्तीसगढ़ी विंडोज एप्लीकेशन सूट निर्माण में एकल-प्रमुख भूमिका. पिछले कई वर्षों से नियमित रूप से हिंदी में तकनीकी/हास्य-व्यंग्य ब्लॉग लेखन, आनलाइन पत्रिका रचनाकार.आर्ग का संपादन तथा हिंदी की सर्वाधिक समृद्ध आनलाइन वर्गपहेली का सृजन.