ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

537 - खेतों से पानी उलीचने या खेतों में पानी डालने के लिए दो-तीन हाथ लंबा लकड़ी का एक उपकरण

ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 537
ऑनलाइन उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) शब्द पहेली Online Hindi Crossword / scrambled / jumbled word Puzzle
1         2   3
4       5
      6    
  7       8  
        9    
      10    
  11       12 13
  14   15      
    16   17  
             

काँठा कुरठा विकर ताधावि णषकोट सिफ़ाला अकधिता पकंअ नापातीश रताउ भअलानु णज़ीबाभाष वामेचपँ थाहा वभक बेजता फ़सिला धिविउप जवालना विषदु

बाएँ से दाएँ
2. विद्वान; पंडित।
4. 1. (ज्यामिति) एक आकृति जिसमें छह कोण होते हैं 2. लग्न से छठा स्थान 3. एक यंत्र 4. इंद्र का वज्र 5. हीरा।
5. 1. गला 2. गले में पहना जाने वाला एक आभूषण; कंठा 3. नदी आदि का किनारा; तट 4. बगल; पार्श्व 5. जलाने की लकड़ी; ईंधन 6. तोते के गले की मंडलाकार रेखा।
6. 1. उतरने की क्रिया या भाव 2. परिमाण
7. जो काँपता न हो; कंपन रहित; ठहरा हुआ; स्थिर।
10. बहुतायत; प्रचुरता; अधिक मात्रा या संख्या।
12. 1. जलने में प्रवृत्त करना; किसी वस्तु में आग लगवाना; जलाना; सुलगाना; दहकाना 2. किसी चीज़ को झुलसवाना 3. आग पर चढ़ाकर भाप आदि के रूप में पानी को सुखाना 4. प्रज्वलित करवाना (दीपक आदि)।
14. नीच; कमीना; छिछोरा।
16. 1. जो उत्पन्न हो 2. जीवित; जीता हुआ 3. आशीर्वाद देने वाला।

ऊपर से नीचे
1. 1. भाषण देने की आदत या प्रवृत्ति 2. एक पर एक लगातार भाषण दिया जाना।
2. 1. सृष्टि का रचयिता; सृष्टिकर्ता 2. (पुराण) ब्रह्मा।
3. 1. कुल्हाड़ा 2. फरसा; परशु 3. अन्न गोदाम 4. (पुरातत्व) धारदार सिरे वाला एक प्राचीन औज़ार जिसमें अलग से हत्था लगाया जाता है और उसकी धार हत्थे के समानांतर होती है 5. अनाज रखने का बड़ा बरतन; कोठिला।
6. 1. किसी विधि या कानून के अंतर्गत आने वाली उससे संबद्ध कोई गौण विधि; (बाइ लॉ) 2. ऐसा कानून
8. दे. पंचमेवा।
9. बिना ताज या मुकुट का।
10. मुनाफ़ा; फ़ायदा; लाभ।
11. उर्दू उच्चारणानुसार वर्तनी (दे. फ़ासला)।
13. 1. सेब की जाति का एक पौधा 2. उक्त पौधे का फल।
15. 1. बीमारी; रोग; व्याधि 2. तलवार चलाने के बत्तीस प्रकारों में से एक।
17. 1. खेतों से पानी उलीचने या खेतों में पानी डालने के लिए दो-तीन हाथ लंबा लकड़ी का एक उपकरण 2. तलवार से वार करने का एक ख़ास ढंग; तलवार का वार 3. शुभ अवसरों पर दीवाल पर हाथ के पंजे से लगाई जाने वाली छाप।
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget