ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

643 - चावल तथा उड़द की दाल को पीसकर बनाया जाने वाला एक प्रसिद्ध दक्षिण भारतीय व्यंजन

ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 643
ऑनलाइन उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) शब्द पहेली Online Hindi Crossword / scrambled / jumbled word Puzzle
  1 2       3    
      4       5
6 7     8  
    9        
10     11
    12 13      
            14  
  15     16
  17          
        18

रनेगचा ढ़ाकव निदैकी दानबाअ मलतूक नातड़ा किलंकत झोंनाक मफ़ह लंधरज डोसा पाकी धावियुगयी नामड़उ ड़गौ अवहदा पालजतं नाभँज तजयंवै रीसंत

बाएँ से दाएँ
1. 1. किसी स्थान पर पहरा देने वाला सिपाही; पहरेदार 2. द्वार पर खड़ा होकर पहरा देने वाला व्यक्ति; द्वारपाल; दौवारिक।
6. 1. वेग से एक चीज़ को किसी दूसरी चीज़ में गिराना
8. 1. पवित्रता 2. निर्दोषता; निष्कलंकता 3. स्वच्छता; सफ़ाई 4. शुचिता।
10. 1. भीषण ताप; अत्यधिक गरमी 2. अधिक क्षेत्र में आग लगाना और उससे वस्तुओं को जलाना।
11. 1. (पुराण) एक प्रसिद्ध राक्षस जिसका वध विष्णु ने किया था 2. नाथ संप्रदाय के एक योगी 3. एक प्रकार का रोग जिसमें सूजन के साथ पेट में पानी भर जाता है; जलोदर; (ड्राप्सी)।
12. जो कत्ल कर डाला गया हो।
16. 1. नदी
17. 1. ध्वजा; पताका 2. (पुराण) इंद्र की ध्वजा।
18. 1. युग का निर्माता 2. युग का सूत्रपात करने वाला।

ऊपर से नीचे
2. किसी को कुछ ताड़ने में प्रवृत्त करना; ताड़ने का काम कराना; किसी को किसी के कार्य को भाँपने के कार्य में लगाना।
3. दिन-प्रतिदिन होने वाले कार्य और विवरण लिखने की पुस्तिका; (डायरी)।
4. चावल तथा उड़द की दाल को पीसकर बनाया जाने वाला एक प्रसिद्ध दक्षिण भारतीय व्यंजन; चीला।
5. 1. मांगलिक अवसरों पर होने वाले सामाजिक उपचार
7. कशीदे या बेलबूटे का काम; कपड़े पर कढ़े हुए बेल-बूटों का उभार।
8. 1. पतंजलि द्वारा रचित 'योगशास्त्र' 2. पतंजलिकृत 'योगसूत्र' के अनुसार योग आचरण या योगसाधना करने वाला व्यक्ति।
9. 1. समझ; बुद्धि; अकल 2. ज्ञान; विद्या 3. तमीज़।
10. 1. आबाद; बसा हुआ 2. भरा-पूरा 3. संपन्न; समृद्ध।
13. 1. जिसपर कलंक लगा हो 2. अपयशी; कुख्यात 3. बदनाम 4. कलंकी।
14. 1. बंगाल का पुराना नाम 2. ब्राह्मणों का एक वर्ग 3. कायस्थों की एक उपजाति 4. राजपूतों की एक शाखा 5. (संगीत) एक राग जो तीसरे पहर तथा संध्या के समय गाया जाता है।
15. भग्न होना; टूटना; टुकड़े-टुकड़े होना।
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget