ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

645 - पानी में होने वाला तिकोने आकार का एक फल जिसके तीनों कोनों पर काँटा होता है

ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 645
ऑनलाइन उलटपुलट / गड्डमड्ड (स्क्रैम्बल्ड) शब्द पहेली Online Hindi Crossword / scrambled / jumbled word Puzzle
1       2 3 4
    5          
6   7    
    8    
  9          
      10 11   12
13   14  
             
        15    
16   17      

गुणना शीवतकृ भेतिदनी लीदि खअल मटनाचि फोघरार लतबेमब नाहपन गुण मशिक दागु दशीमाब दानादबख लनाआ वशी पानीफल दआचसूरक भेली नालर रोपपरका

बाएँ से दाएँ
1. 1. हार्दिक; मानसिक 2. सत्कारपरक; अंतरंग 3. दिल या हृदय से संबंधित 4. बहुत घनिष्ठ; गहरा।
2. दूसरों की भलाई; दूसरे के हित का काम; उपकार।
6. भेदभाव या भिन्नता पैदा करने की नीति; दूसरों में फूट डालने की नीति।
8. 1. चिपकना 2. किसी जीव का दूसरे जीव या पदार्थ को अच्छी तरह पकड़कर उसके साथ सटना; लिपटना 3. बहुत बुरी तरह से किसी के पीछे पड़ना और जल्दी उसका पिंड न छोड़ना।
9. घोंसला; चिड़ियों का बसेरा; नीड़।
10. 1. अलक्ष्य; जो दिखायी न पड़े; अदृश्य 2. अगोचर; इंद्रियातीत।
12. 1. अपनी इंद्रियों को वश में रखने वाला; संयमी 2. वश में किया हुआ; अधीन।
13. 1. वह व्यक्ति जो दूसरे के घर में कलह पैदा करता है 2. अपने ही परिवार के सदस्यों को आपस में लड़ाने वाला व्यक्ति।
14. 1. बदमाश होने की अवस्था या भाव 2. बदचलनी; व्यभिचार 2. दुष्टता; दुष्कर्म; कुकर्म 3. बदमाश द्वारा किया जाने वाला कोई कार्य; लुच्चापन; गुंडापन।
15. 1. गुद 2. वह इंद्रिय जिससे प्राणी मल त्याग करते हैं; मलद्वार।
16. पेट; उदर; ओझ।
17. 1. गुणा करना; ज़रब देना 2. मन में सोचना; समझना; गुनना।

ऊपर से नीचे
3. शरीर या अंग विशेष पर धारण करना (कपड़े
4. 1. घुल-मिल जाना 2. पूर्ण होना 3. मिलना।
5. पानी में होने वाला तिकोने आकार का एक फल जिसके तीनों कोनों पर काँटा होता है
6. 1. किसी वस्तु या चीज़ का पिंड 2. गुड़ का छोटा टुकड़ा।
7. 1. निरर्थक; बिना किसी मतलब का 2. बिना किसी कारण के; बेवजह 3. फ़िज़ूल 4. व्यर्थ।
9. सम्मान का द्योतक; जिससे आदर का भाव प्रकट हो।
11. 1. पकते या उबलते समय किसी तरल पदार्थ का खदबद शब्द या ध्वनि करना 2. उबलना या पकना।
12. 1. जिसे वश में कर लिया गया हो; वश में किया हुआ 2. मोहित; मुग्ध।
15. 1. किसी विषय या क्षेत्र में प्राप्त की जाने वाली निपुणता या प्रवीणता 2. प्रभाव; असर 3. लाभ; फ़ायदा 4. किसी वस्तु की निजी विशेषता; वह विशिष्टता जो किसी पदार्थ को दूसरों से भिन्न करती है 5. धागा 6. डोरी; प्रत्यंचा 7. वीणा आदि का तार 8. (काव्यशास्त्र) रस का प्रधान धर्म (माधुर्य
लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget