ऑनलााइन हिंदी विश्व की सर्वप्रथम, समृद्ध वर्ग पहेलियाँ। मनोरंजन। ज्ञानवर्धन। दिमाग़ी कसरत।

ऑनलाइन वर्गपहेली Online Hindi Crossword Puzzle 161


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 161
Online Hindi Crossword Puzzle 161
1       2   3 4
      5 6        
    7          
8          
            9 10
11     12 13      
              14
  15 16   17  
      18        
  19         20  
21              
      22   23



संकेत (Clue) :
दाएँ से बाएँ
1. कसोरा, सकोरा, सिकोरा, वर्द्धमान, वर्धमान, वर्द्धमानक, वर्धमानक; मिट्टी का बना एक छोटा, कटोरे की तरह का बर्तन;
3. किसी वस्तु, बात आदि पर विचार न करने की क्रिया या भाव
5. काल के मान की दृष्टि से घटना, बात आदि का वर्तमान से होते हुए भूत में जाना
8. गाजरघास
9. लांछित, कलंकित, कलुषित, दाग़ी, दागी, आक्षिप्त; जिसे लांछन या कलंक लगा हो
12. तुषारकण, हेमकण, हिम-कण, तुषार-कण, हेम-कण, अवश्याय; तुषार या पाले के बहुत छोटे-छोटे कण
15. अपितृ, अपितृक; जिसके पिता न हों
17. दुर्गम, दुर्गम्य, कठिन, विकट, बीहड़, अगम्य, अगम, असुगम, अनागम्य, अगत, गहबर, बंक, वंक; जो गम्य न हो या जो जाने योग्य न हो, गंभीर, पेचदार, पेंचदार, पेचीदा, पेचीला, अवगाह, अवरेबदार, औरेबदार, अवरेबी, औरेबी; जिसमें बहुत हेर-फेर या पेंच हो और जो इसलिए जल्दी समझ में न आये
18. तुरंत निकाला हुआ, हाल ही का, जो म्लान या कुम्हलाया न हो
20. अनुसार, मुताबिक, मुताबिक़, अनुकूल, मुताबिक़, हिसाब, अप्रतीष; के मत से या की दृष्टि से
21. आँगन, आंगन, अंगन, अँगना, अंगना, प्रांगण, चौक, सहन, अँगनई, अँगनैया, अँगनाई, अंगनई, अंगनाई, अजिर; घर के बीच का खुला भाग
22. अभिवादन करने वाला
23. धातु का विशेषकर एक गोल बाजा जिस पर हथौड़े आदि से वार करने पर आवाज़ निकलती है

ऊपर से नीचे
2. दूत, संदेशी, संदेशहर, सन्देशवाहक, ख़बरी, खबरी, सन्देशी, सन्देशहर, संदेसी, सन्देसी, संदेशहारक, संदेशहारी, संवाददाता, सम्वाददाता, वार्तावह; किसी का संदेश लाने या ले जानेवाला व्यक्ति
3. समर्थक, पक्षधर, हिमायती, तरफ़दार, तरफदार, बाँहियाँ; वह जो किसी पक्ष या किसी सिद्धांत आदि का समर्थन या पोषण करे
4. नट जाति की स्त्री
6. तपिया, तपी, त्यागी, तपावंत, तपावन्त; तपस्या करनेवाला;
7. अगौरवता, निस्तेजता; गौरवहीन होने की अवस्था या भाव
10. लालिमा लिए हुए
11. हलाहल विष, सिंधुविष, सिन्धुविष; वह प्रचंड विष जो समुद्रमन्थन के समय समुद्र से निकला था, एक बहुत विषैला सर्प
13. गौरव, बड़प्पन, महिमा, श्रेष्ठता, गौरवपूर्णता, प्रभुता, प्रभुत्व, बड़ाई, महत्त्व, महत्व, गुरुत्व, गुरुता, वर्चस्व, अज़मत, अजमत, बिरद, अधिकाई, तशरीफ़, तशरीफ, ईशिता, ईशित्व, विभूति, बुज़ुर्गी, बुजुर्गी; महान होने की अवस्था या भाव;
14. दादागिरी, बदमाशी, गुंडापन, लुच्चागिरी, लुच्चापन, लुच्चई, गुंडागीरी, लुच्चागीरी; व्यर्थ में किसी से लड़ने-झगड़ने या मारपीट करने की क्रिया
16. सिख पंथ में, धर्म-विरोधी कार्य करनेवाला घोषित अपराधी
19. पैबंद, चकती, थिगड़ा; कपड़े,चमड़े आदि का छेद बंद करने के लिए ऊपर से लगाया जानेवाला टुकड़ा
20. उचित, उपयुक्त, ठीक, सही, मुनासिब, वाजिब, योग्य, लायक, लायक़, ऐन, रास, प्रशस्त, ज़ेबा, जेबा, मौजूँ, मौजूं, मौज़ूँ, मौज़ू, अर्ह; जैसा होना चाहिए वैसा

--

पहेली का हल देखने के लिए नीचे दिए गए Newer Posts लिंक को क्लिक करें.

लेबल:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणियाँ यहाँ दर्ज करें. स्पैम/वायरस कड़ियों युक्त टिप्पणियों को रोकने हेतु टिप्पणियों पर मॉडरेशन लागू है अतः उन्हें यहाँ प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है. धन्यवाद.

आसान पहेलियाँ

[आसान][column1]

कठिन पहेलियाँ

[कठिन][column1]

तकनीकी / हास्य-व्यंग्य

[तकनीकी][column1][http://raviratlami.blogspot.com]

रचनाकार - हिंदी साहित्य

[कहानी][column1][http://rachanakar.blogspot.com]
[facebook][blogger]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget